Friday, 30 August 2013

'क'

कोमल कपोल
कमनीय केश
करखा काले कजरारे
कातर कन्चुक
कबरी काफ़िर
कर कन्गन
कनक कटारी
कटि की कातिल कामुकता
कानन कर्णफ़ूल किलकारे
किंचित कुंचित केश
कांच की किरचों के
कर्पूर कमल की कान्ति
किशोरी

काहे कत्ल कमाये??

2 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. You are a writing genius!!!!

    ReplyDelete